फूलन देवी हत्याकांड मामले में पूर्व विधायक को 10 साल की सजा

फ़िरोज़ाबाद। सांसद फूलन देवी की हत्या के बाद वर्ष 2001 में हुये विरोध प्रदर्शन के दौरान आगजनी आदि के मामले में फिरोजाबाद जिले की विषेश अदालत ने पूर्व विधायक अजीम भाई को दस साल की सजा सुनाई और जुर्माना लगाया। अभियोजन पक्ष के अनुसार 26 जुलाई 2001 को समाजवादी पार्टी के लोगों द्वारा सदर बाजार बंद कराने का आव्हान किया गया था।
दोपहर करीब एक बजे संजय यादव, मंसाराम और अजीम मिया के नेतृत्व में सपा कार्यकर्ताओं ने बाजार बंद कराते हुये सुभाष तिराहे पर सड़क पर बैठ गये और जाम लगा दिया था। इन लोगों ने सांसद फूलन देवी की हत्या के विरोध में नगर मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा था। इसके बाद यह तीनों लोग सुहाग नगर की तरफ जाने लगे तभी इन्होंने आगरा की तरफ से आ रही एक रोड़बेस बस को आग के हवाले कर दिया।
इस मामले में पुलिस ने तीनों लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। विवेचना उपरान्त मंसाराम, संजय यादव व अजीम भाई के विरूद्व आरोप पत्र न्यायालय में प्रेषित किया गया। मुकदमा वास्ते सुनवाई सेशन के सुपुर्द हुआ। मंसाराम यादव व संजय यादव को पूर्व में दोषमुक्त कर दिया गया जबकि अजीम भाई की पत्रावली को पृथक कर दिया गया था। मुकदमें की सुनवाई अपर सत्र न्यायाधीष/विषेष न्यायाधीष एमपी एमएलए कोर्ट संख्या 8 डा0 केशव गोयल दोनों पक्षों की दलीले एवं साक्ष्यों के आधार पर पूर्व विधायक अजीम भाई को दोषी पाते हुए दस साल की सजा और दस हजार का जुर्माना लगाया। आदलत के आदेश के बाद पुलिस अभिरक्षा में पूर्व विधायक को जेल भेज दिया गया।

0/Post a Comment/Comments

Please do not enter any Spam Link in the Comments box.

Previous Post Next Post
close