पवन जल्लाद ने कहा - निर्भया की मां का सामना करने की हिम्मत नहीं, जानिए क्यों कही ये बात ?

दिल्ली। बेटी के दरिंदों को फांसी के फंदे तक पहुंचाने के लिए मां आशा देवी ने सात साल की लंबी लड़ाई लड़ी है। दोषियों को फांसी पर लटकाने वाले जल्लाद पवन भी इस केस पर अपनी निगाहें लगाए बैठे थे। फैसले के बाद पवन चारों को एक साथ मौत देने के लिए तैयार हैं, लेकिन निर्भया की मां से मिलने की बात पर उन्होंने कहा, मैं किसी की भी मौत देख सकता हूं, लेकिन उस मां का सामना करने की हिम्मत नहीं है। पवन ने बताया कि एक-दो बार टीवी कार्यक्रम के दौरान वह निर्भया की मां के सामने पड़े, लेकिन अलग हट गया। पवन ने कहा कि बेटी के दोषियों के जिंदा रहने का दर्द उनके चेहरे पर साफ नजर आता है। पवन ने कहा कि उन्हें चैन तभी मिलेगा जब चारों को फांसी हो जाएगी। निर्भया की मां से भी उसी दिन मुलाकात करेंगे जब चारों को फांसी पर चढ़ा देंगे।

0/Post a Comment/Comments

Please do not enter any Spam Link in the Comments box.

Previous Post Next Post
close