फर्रुखाबाद: सिरफिरे की बेटी को यूपी पुलिस ने लिया गोद

फर्रुखाबाद के मोहम्मदाबाद के करथिया गांव में 23 बच्चों को बंधक बनाने और पुलिस मुठभेड़ में मारे गए सिरफिरे सुभाष बाथम की बेटी की जिम्मेदारी अब फर्रुखाबाद पुलिस के कंधों पर है। सुभाष के बाद भीड़ की पिटाई से पत्नी रूबी की मौत के बाद एक साल की मासूम कुसुम को लेने कोई नहीं आया।
पुलिस के मुताबिक इस घटना के बाद सुभाष के परिवार वालों ने बच्ची की जिम्मेदारी उठाने से ही इनकार कर दिया था। जब तक उसके लिए कोई वारिस नहीं मिल जाता है, तब तक पुलिस बच्ची की परवरिश कराएगी। आइजी रेंज मोहित अग्रवाल ने बताया कि बच्ची की देखभाल फर्रुखाबाद में ही किसी महिला पुलिसकर्मी को दी जाएगी। अगर कोई बाहरी व्यक्ति बच्ची को गोद लेने के लिए आवेदन करेगा तो उस पर भी प्रशासनिक स्तर से विचार किया जाएगा।


0/Post a Comment/Comments

Please do not enter any Spam Link in the Comments box.

Previous Post Next Post
close