अगर एक से ज्यादा है बैंक अकाउंट, तो पढे ये नियम ?

Bank-Account
दिल्ली। मोदी सरकार ने ऐलान किया है कि अगर कोई बैंक दिवालिया हो जाता है तो बैंक के अकाउंट होल्डर्स के अकाउंट के लिए डिपॉजिट इंश्योरेंस के तौर पर ₹500000 दिए जाएंगे। इसके पहले डिपॉजिट इंश्योरेंस के तहत ₹100000 देने का नियम था। 1993 के बाद पहली बार डिपॉजिट इंश्योरेंस की सीमा को एक लाख से बढ़ाकर ₹500000 किया दिया गया है। DICGC एक्ट, 1961 की धारा 16 (1) के प्रावधानों के तहत, अगर कोई बैंक डूब जाता है या दिवालिया हो जाता है, तो DICGC प्रत्येक जमाकर्ता को भुगतान करने के लिए उत्तरदायी होता है। उसकी जमा राशि पर 5 लाख रुपये तक का बीमा होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आपका एक ही बैंक की कई ब्रांच में खाता है तो सभी खातों में जमा अमाउंट और ब्‍याज जोड़ा जाएगा और केवल 5 लाख तक जमा को ही सुरक्षित माना जाएगा। इसमें मूलधन और ब्‍याज दोनों को शामिल किया जाता है, मतलब साफ है कि अगर दोनों जोड़कर 5 लाख से ज्यादा है तो सिर्फ 5 लाख ही सुरक्षित माना जाएगा।

0/Post a Comment/Comments

Please do not enter any Spam Link in the Comments box.

Previous Post Next Post
close