पूछताछ के दौरान आरोपी की मौत, परिजनों ने कहा- पुलिस ने पीट-पीटकर मार डाला

दिल्ली। लोधी नगर थाने में चोरी के आरोपी की मौत के बाद परिजनों ने दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मृतक युवक का नाम धर्मबीर बताया जा रहा है। धर्मबीर के घऱवालों का कहना है कि पुलिस हिरासत में उनकी जमकर पिटाई की गई, जिसकी वजह से उनकी मौत हुई। 45 वर्षीय धर्मबीर ऑटो-रिक्शा चलाते थे।

पुलिस के मुताबिक बीते गुरुवार को कार चोरी की एक घटना की शिकायत लोधी कॉलोनी पुलिस थाने मे की गई थी। इस मामले की छानबीन एएसआई विजय कर रहे थे। सीसीटीवी फुटेज की जांच के दौरान पुलिस को चोरी की वारदात के पास धर्मबीर का ऑटो नजर आया। जिसके बाद पुलिस ने उसे जांच में शामिल होने के लिए कहा।

डिप्टी पुलिस कमिश्नर अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि 'घटना के वक्त धर्मबीर का ऑटो सतीश नाम का युवक चला रहा था। जिसके बाद धर्मबीर औऱ घेवर राम चौधरी नाम के 2 लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस इस मामले में धर्मबीर की भूमिका की जांच की जा रही थी। एएसआई विजय थाने के एक कमरे में धर्मबीर से पूछताछ कर रहे थे। पूछताछ के दौरान विजय बाथरूम गए और जब वहां से लौटे तब धर्मबीर कमरे में नहीं था। विजय ने देखा कि धर्मबीर नीचे गिरा हुआ था।'

पुलिस के मुताबिक धर्मबीर को तुरंत एम्स में भर्ती कराया गया। एम्स के ट्रॉमा सेंटर में इलाज के दौरान धर्मबीर की मौत हो गई। जिसके बाद उसके परिवार के सदस्यों को जानकारी दी गई। इसके अलावा एएसआई विजय को सस्पेंड कर दिया गया है। उनके खिलाफ विभागीय जांच की जा रही है। इसके अलावा 2 कॉन्स्टेबल राजेंद्र और संदीप को लाइन हाजिर किया गया है।

0/Post a Comment/Comments

Please do not enter any Spam Link in the Comments box.

Previous Post Next Post